स्कूल टाइम पर नहीं पहुंच रहे प्राचार्य एवं शिक्षक मनमर्जी से हो रही ड्यूटी

तामिया/विकासखंड के खिरेटी मॉल एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्र में पहली से लेकर 10वीं तक के का स्कूल है हाई स्कूल शासकीय माध्यमिक शाला प्राथमिक शाला है जहां शासकीय प्राचार्य एवं शिक्षक स्कूल समय पर नहीं पहुंच रहे हैं आसपास के क्षेत्रों में आने वाले शिक्षक कोई परासिया छिंदवाड़ा तामिया से 40 -50 किलोमीटर दूर से आना जाना करते हैं कभी 12:00 बजे कभी 1:00 बजे पहुंचते हैं स्कूल जिससे बच्चों की पढ़ाई में काफी असर पड़ रहा है। 

बच्चों को पढ़ने के लिए इंतजार करना पड़ रहा है जैसे तैसे 2 साल बाद स्कूल चालू हुआ है जिसमें पढ़ने के लिए बच्चों में काफी उत्साह दिखाई दे रहा है अगर उनको पढ़ाने वाले टीचर ही लेट आएंगे तो बच्चों की पढ़ाई कैसे होगी स्कूल के शासकीय शिक्षक ना ही टाइम से आते हैं और कभी भी चले जाते हैं ग्रामीण क्षेत्र होने के कारण कभी भी आना जाना करते हैं जिससे बच्चों की पढ़ाई में काफी समस्या उत्पन्न होती है जिम्मेदार अधिकारी भी गांव क्षेत्र में नहीं आते हैं जिसके कारण शासकीय कर्मचारी मनमानी से ड्यूटी करते हैं। वैसे ही गांव की स्कूलों में शासकीय शिक्षक बहुत कम है अधिकतर स्कूल अतिथि शिक्षकों के भरोसे चल रहे हैं ऐसे में अगर शासकीय कर्मचारी ही अपनी ड्यूटी ईमानदारी से नहीं करेंगे तो स्कूलों का क्या होगा। शिक्षा विभाग के अधिकारी को ग्रामीण क्षेत्र का दौरा करना चाहिए जिससे कर्मचारी ड्यूटी ईमानदारी से करें। …….प्रीतम सिंह की रिपोर्ट