6 लाख रुपए जन भागीदारी की नेत्र जांच मशीने चांदामेटा शासकीय अस्पताल से लायंस क्लब परासिया ने कैसे निकाला

*कलेक्टर, एस.पी,सीएमएचओ सहित परासिया थाने में की लिखित शिकायत दर्ज*

*लायंस क्लब परासिया की खुल रही है धीरे-धीरे पोल*

CCN जिला कलेक्टर द्वारा वर्ष 2012 में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चांदामेटा में जन भागीदारी योजना के अंतर्गत मरीजों के नेत्र संबंधी रोगों के निवारण हेतु छ: लाख रुपए की मशीने लगवाई गई थी। जिसमे (1) आपरेटिंग माइक्रोस्कोप (2) केरोटोमीटर (3) विक्टोटॉमी यूनिट (4) इरीगेशन सिस्टम (5) रिफरेक्शन चेयर यूनिट (6) ए.सी. (एयर कंडीशनर) (7) रिलट लैंप (8) ए-स्कैन (9) ड्रेसिंग ट्रॉली (10) स्टूमेन्ट ट्रॉली (11) ओ.टी. टेबल (12) आई टॉवेल एवं गाउन (13) ड्रम*

*यह समस्त मशीने चांदामेटा शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अस्पताल में आम जनता जनार्दन के नेत्र रोग संबंधी उपचार हेतु लगवाई गई थी। सभी मशीने निर्धन गरीबों को नि:शुल्क अपनी सेवाएं दे रही थी। किंतु चालू हालत की ये सभी छ: लाख रुपए की मशीने वर्ष 2013 में लायंस क्लब लायंस आई हॉस्पिटल परासिया ने अधिकारियों से मिली भगत कर इन सभी मशीनों को उखाड़कर अपने निजी अस्पताल परासिया में लगा लिया। और इन मशीनों से आम जनता जनार्दन से आंखों के रोग संबंधी इलाज के नाम पर रूपयों की उगाही करने लगे। आवेदक भगवान दास विश्वकर्मा वार्ड क्रमांक 4 निवासी चांदामेटा ने जनहित में इन सभी मशीनों को वापस शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चांदामेटा में वापस लगवाने हेतु माननीय जिला कलेक्टर छिंदवाड़ा, पुलिस अधीक्षक छिंदवाड़ा, सीएमएचओ छिंदवाड़ा एवं थाना परासिया में आज अपनी लिखित शिकायत दर्ज किया है। आवेदक का कहना है शासन प्रशासन शीघ्र अति शीघ्र कार्यवाही कर इन सभी मशीनों को वापस चांदामेटा शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लगवाए अन्यथा मैं आमरण अनशन पर बैठूंगा।*