चेक बाउंस करने में कन्हैयालाल झाडे को हुई एक वर्ष की जेल

 

*चेक बाउंस करने में कन्हैयालाल झाडे को हुई एक वर्ष की जेल*

 

*समाजसेवी रिंकू रितेश चौरसिया को मिला न्याय*

 

*सत्य परेशान हो सकता है किंतु पराजित नहीं,,*

 

CCN परासिया कन्हैया लाल झाडे पिता मोहपत झाडे उम्र 60 वर्ष रिंग टॉकीज के पास, बिजली ऑफिस के बाजू में, वार्ड नंबर 2 परासिया निवासी ने समाजसेवी रिंकू रितेश चौरसिया पिता स्व. सालिकराम चौरसिया वार्ड क्रमांक 10 स्टेशन रोड परासिया निवासी से पांच लाख रुपए का लेनदेन कर दो चेक दिया था। एक चेक 2 लाख रुपए राशि का था, दूसरा चेक तीन लाख रुपए राशि का था। जिसमे भुगतान दिनांक में बैंक खाते में प्रयाप्त राशि ना होने के कारण चेक का भुगतान नहीं हो पाया, जिसके कारण चेक बाउंस हो गया। जिसके चलते समाजसेवी रिंकू रितेश चौरसिया ने अधिवक्ता सूर्यकांत तारण की सलाह पर न्याय पाने हेतु एवं अपनी रकम की वसूली के लिए कन्हैया लाल झाडे के विरुद्ध परासिया न्यायलय में 27-07-2016 को केश नंबर SC NIA /200538/2016 मुकदमा दायर किया था। इस केस में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी श्रीमती सोनाक्षी शर्मा न्यायाधीश परासिया जिला छिंदवाड़ा द्वारा समाजसेवी रिंकू रितेश चौरसिया के पक्ष में निर्णय दिया है। न्यायाधीश महोदया ने अपना जजमेंट में कन्हैया लाल झाडे को एक वर्ष की सजा एवं तीन लाख रुपए की रकम पर प्रतिकर 1,41,000 अतिरिक्त राशि सहित देने का दंड दिया है। केस में अधिवक्ता शिवचरण केसरवानी एवं सह अधिवक्ता अरुण यदुवंशी ने समाजसेवी रिंकू रितेश चौरसिया को न्याय दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वाह किया। इस निर्णय से संपूर्ण नगर में खुशी का माहौल है। लोगों का कहना है अमानत में ख्यानत करने वालों के साथ ऐसा ही होना चाहिए। सभी लोग निर्णय की भूरी भूरी प्रशंसा कर रहे हैं।