पति-पत्नी के नाम से मंजूर कराए दो आवास, एक की राशि हड़पी

रोजगार सहायक ने सतीराम पिता रमेश और उसकी पत्नी रुकमणी बाई के नाम से दो अलग-अलग प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत कराए थे। इनमें से एक आवास का निर्माण कराया गया व दूसरे आवास की करीब एक लाख की राशि रोजगार सहायक ने हड़प ली।

छिन्दवाड़ा/ मोहखेड़ :-जनपद पंचायत मोहखेड की ग्राम पंचायत बेलखेड़ा के ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री आवास योजना में अनियमितता का आरोप लगाया है। उन्होंने मोहखेड जनपद पंचायत के सीईओ सीएल अहिरवार को ज्ञापन दे कर जांच की मांग की है। ज्ञापन में रोजगार सहायक पर योजना में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। बताया है कि रोजगार सहायक ने सतीराम पिता रमेश और उसकी पत्नी रुकमणी बाई के नाम से दो अलग-अलग प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत कराए थे। इनमें से एक आवास का निर्माण कराया गया व दूसरे आवास की करीब एक लाख की राशि रोजगार सहायक ने हड़प ली। ग्रामीणों ने बताया कि रोजगार सहायक धमकी देकर पीएम आवास की राशि मांग रहा है। इस सम्बन्ध में ग्रामीणों ने पांढुर्णा विधायक सहित जनप्रतिनिधियों को भी ज्ञापन देकर मामले से अवगत करा जांच की मांग की है।ग्राम पंचायत बेलखेड़ा के सचिव केशराव सिंगारे ने बताया कि मामले की जानकारी संज्ञान में आई है । जनपद पंचायत के सीईओ से रोजगार सहायक की शिकायत की है। वैसे भी वह पंचायत के कार्यों की जानकारी नहीं देता है । इसकी भी शिकायत की गई है ।