आदिवासी बुजुर्ग महिला को ,नहीं मिल पा-रहा योजना का लाभ

CCN/डिंडोरी /ब्योरो /चन्द्रिका यादव

डिंडोरी/ डिंडोरी जिले से,लगभग 20किलो,मीटर,की दूरी,ग्राम पंचायत खेरदा के पोषक ग्राम बरगा में एक बुजुर्ग आदिवासी महिला ललिया बाई पति केहर सिंह गोंड लगभग 65 वर्ष जो विगत 4 वर्षों से एक पेड़ के नीचे पन्नी की झोपड़ी बनाकर रहने को मजबूर है जिसे अभी तक शासकीय योजनाओं का किसी भी प्रकार से लाभ नहीं मिल पा रहा है और ना ही स्थानीय ग्राम पंचायत द्वारा किसी प्रकार से सहयोग किया गया है।

        स्वयंसेवी संस्था टी आर आई के कार्यकर्ताओं द्वारा कुछ कपड़े और राशन की व्यवस्था की गई है जिससे उस महिला को तत्काल सहयोग मिल सका है जो उस बुजुर्ग के लिए बड़ी राहत महसूस की जा रही है उसके साथ खुद की एक पुत्री भी है जो अपने रिश्तेदारों के यहां रहती है परंतु महिला किसी से सहयोग नहीं ले रही है जो मिल जाता है उसे वह खुद पकाकर खाती है अभी तक उस महिला का नाम मतदान सूची तक में दर्ज नहीं है ना ही आधार कार्ड बना है और ना ही राशन कार्ड बना है जिससे सस्ती दर पर राशन मिल पा रहा है पास में ही उस महिला की भाई फूल सिंह का घर है उसने बताया कि उसके कहने पर उसके मकान में भी नहीं रहती और ना ही किसी के यहां का भोजन नहीं करती है। 

          सचिव से पूछे जाने पर उसे इसकी जानकारी ही नहीं होना बताया गया जिससे ए, एस, कुशराम मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा सचिव को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं जिससे उस महिला की भीषण शीतलहर में व्यवस्था हो सकेगी बताया जाता है कि बुजुर्ग महिला जोकि कड़ाके की ठंडी में ठंडी में एक छोटी सी त्रिपाल की मड़ैया बनाकर, रहने को मजबूर लेकिन इन 4 सालों में एक बुजुर्ग महिला जिनकी और न शासन प्रशासन का इस ऒर  कोई ध्यान ही नहीं है अब,देखना होगा कि शासन ,प्रशासन क्या कार्यवाही करता है

इनका कहना है अभी तत्काल के लिए राशन एवं कपड़े की व्यवस्था किया जा रहा है। :-  ए ,एस कुशराम ,मुख्य कार्यपालन अधिकारी ,जनपद पंचायत अमरपुर