कमलनाथ की चेतावनी, दो साल बाद सरकार बदलते ही अफसरों की फाइलें खुलेंगी

 – पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार से लेकर मोदी सरकार पर भी साधा निशाना…।

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश सरकार के अधिकारियों और कर्मचारियों को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि सरकार को दो साल बचे हैं। सरकार बदलते ही सबकुछ देखा जाएगा। रिटायर हो जाओगे तब भी फाइलें खुल सकती हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ गुरुवार को बोल रहे थे। कांग्रेस नेता नूरी खान की उज्जैन से आई यात्रा के समापन अवसर पर कमलनाथ ने कहा कि मोदी सरकार किसानों की हितेषी सरकार नहीं है। जितनी आत्महत्या अफ्रीका के किसानों ने नहीं की उससे अधिक किसानों ने आत्महत्या मोदी सरकार के राज में की है।

नाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा प्रदेश में महिला अत्याचार के मामले में मध्यप्रदेश नंबर वन है। हर दिन जनजातियों पर अत्याचार हो रहे हैं। स्वास्थ्य सुविधा ठप है। डाक्टर नहीं, डाक्टर हैं तो दवा नहीं। स्कूल है तो शिक्षक नहीं। शिक्षक भी है तो वो अनुपस्थित रहता है।

रिटायरमेंट के बाद भी खुलेगी फाइलें

यह शासकीय कर्मचारियों के माध्यम से यह लोग अपने अगले दो साल काटना चाहते हैं। मैं कहना चाहता हूं दो साल बचे हैं। अपना भविष्य सुरक्षित रखना। आप रिटायर भी हो जाओगे तो फाइल तो खुलेगी। आप बीजेपी का बिल्ला जिस जेब में रखते हैं, वो ध्यान रखना, वो हमें भी मालूम है। आप अपनी वर्दी की इज्जत करें। किसी व्यक्ति पार्टी की इज्जत भले ही नहीं करें, लेकिन अपनी वर्दी की इज्जत जरूर करें। मैंने कभी किसी पर दबाव नहीं बनाया कि इसे बंद कर दो गिरफ्तार कर दो। मुझे प्रदेश की सोच थी कि हम मध्यप्रदेश का नाम रोशन करें।

 

निवेश आएगा तो मिलेगा रोजगार

कमलनाथ ने कहा कि हमारी कोशिश रही है कि ज्यादा से ज्यादा निवेश प्रदेश में लाएं। आज हजारों युवा बेरोजगार बैठे हैं, कहीं मंदिर या मस्जिद से रोजगार नहीं मिलेगा। जब निवेश आएगा, आर्थिक गतिविधि बढ़ेगी तो रोजगार बनेगा।

एक स्वतंत्रता सेनानी का नाम बताएं

कमलनाथ ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए एक बार फिर दोहराया है कि भाजपा के लोग एक भी स्वतंत्रता सेनानी का नाम बता दें, जिन्होंने स्वतंत्रता संग्राम के आंदोलन में कुर्बानी दी थी।

मोदीजी ने नहीं दिया पैसा

कमलनाथ ने कहा था कि मोदीजी ने कहा था 20 लाख करोड़ रुपए में दे रहा हूं। यदि दिए होते तो इतने लोगों की मौत न होती। इतना संकट में लोगों को जीवन नहीं गुजारना पड़ता। कमलनाथ ने शिवराजजी पर एक्टिंग करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि शिवराजजी मुंबई जाइए एक्टिंग कीजिए, आप मध्यप्रदेश का नाम रोशन करेंगे।

 

ये सौदेबाजी की सरकार

यह सरकार सौदेबाजी की सरकार है। मैं मध्यप्रदेश की सरकार सौदेबाजी से नहीं बनाना चाहता था। सौदा मैं भी कर सकता था।

 

27 लाख किसानों का कर्जा माफ हुआ

नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश की अर्थव्यवस्था 70 फीसदी कृषि से चलती है। हमने शुरुआत की थी कर्जा माफ करने की। शिवराजजी कहते रहे कि कोई कर्जा माफ नहीं हुआ। अब खुद की सरकार ने पेश किया कि 27 लाख लोगों का कर्जा माफ पहली किस्त में माफ किया।

 

यह लोग थे मौजूद

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित सभा में पूर्व मंत्री एवं विधायक पीसी शर्मा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुरेश पचौरी, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।