कांग्रेस सेवादल द्वारा पूर्व राष्ट्रपति डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद जी एवं शहीद खुदीराम बोस की जयंती पर श्रद्धासुमन अर्पित किए गए

CCN/छिन्दवाड़ा

छिन्दवाड़ा-: कांग्रेस सेवादल जिलाध्यक्ष सुरेश कपाले ने बताया कि कांग्रेस सेवादल के पदाधिकारीयो के द्वारा देश के पहले राष्ट्रपति स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद जी की जयंती पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रध्दांजलि दी गई। इस अवसर पर कपाले ने बताया कि डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद जी ने स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए महात्मा गांधी जी के साथ संघर्ष किया। स्वतंत्रता मिलने के पश्चात जनजीवन को नए रूप मे देश को प्रदान किया। लगातार पूरी दो अवधि तक भारत के राष्ट्रपति के रूप मे इस सर्वोच्च पद को प्रतिष्ठित किया। डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद एक सच्चे राष्ट्रवादी गांधीवादी विचारधारा मे विश्वास रखने वाले प्रखर राजनीतिक थे वे भारतीय संस्कृति मे पूर्णतः रचे बसे थे। राष्ट्र के लिए उनके द्वारा दिए गए योगदान को भूलना कभी संभव नही है । वे कांग्रेस पार्टी के 3 बार राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे और संविधान सभा के भी अध्यक्ष रहे। इनका जन्म 3 दिसंबर 1884 को उत्तरी बिहार मे हुआ था एवं मृत्यु 28 फरवरी 1963 को हुई।
साथ ही आज देश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शहीद खुदीराम बोस की जयंती के अवसर पर कांग्रेस सेवादल के पदाधिकारीयो द्वारा खुदीराम बोस अमर रहे के नारे लगाए गए और उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजली दी गई। इस अवसर पर कपाले ने बताया कि खुदीराम बोस का जन्म 3 दिसंबर 1889 को कलकत्ता के कायस्थ परिवार मे हुआ था। बंगाल का वीर सेनानी खुदीराम बोस एक ऐसा क्रांतिकारी था जो 16 वर्ष की आयु मे वंदे मातरम का उदघोष करके भारत को क्रांतिकारी धरती के रूप मे प्रसिद्ध कर दिया जो तीन वर्ष तक क्रांतिकारी आंदोलन मे सक्रिय भूमिका निभाकर 19 वर्ष की आयु मे फांसी के फंदे को चूमकर अपना नाम इतिहास के पृष्ठो मे सदा के लिए अमर कर दिया। बंगाल का यह वीर अल्प व्यस्क क्रांतिकारी योद्धा आने वाले समय के क्रांतिकारीयो का प्रेरणा स्रोत बना रहेगा। इस युवा क्रांतिकारी पर सभी भारतीयो को गर्व है। खुदीराम बोस को 11 अगस्त 1908 को फांसी पर चढा दिया गया। था।
इस अवसर पर कांग्रेस सेवादल के निम्न पदाधिकारी उपस्थित हुए जिसमे राकेश मरकाम, दिनेश डेहरिया, निखिलेश चरण दुबे, शबाना यास्मीन खान, इंद्रभूषण धुर्वे, प्रेम उईके, सतीश डेहरिया, विनोद चौरे, सुनील सातपुते, अखलेश पवार, ईश्वरदीप सिंह, रंजित रविकर, राजू विश्वकर्मा, राजेन्द्र डोंगरे, जयपाल उईके, दीपक घोरसे, संजय शेंडे, जगदीश कुमरे, मिथिलेश सूर्यवंशी, तपिश शेरके आदि।