लिखित आश्वासन 1 सप्ताह और पिने का पानी के लिए तरस रहे ग्रामीण

 

अमरपुर डिंडोरी…. जनपद पंचायत मुख्यालय अमरपुर में सन 1983 -84 से नल जल योजना का संचालन ग्राम पंचायत द्वारा किया जा रहा है जहां शुरुआत में नलकूप से जल प्रदाय किया जाता रहा वह नलकूप के पानी में फ्लोराइड की अधिकता के कारण शासन द्वारा खमेर नदी के पानी को जल शोधन संयंत्र से उच्च स्तरीय टंकी के माध्यम से गांव मैं जल प्रदाय की व्यवस्था की गई थी फिर सर्वेक्षण आप इंडिया के द्वारा रानी अवंती बाई उत्कृष्ट स्कूल में नलकूप खनन किया गया था जिसमें पर्याप्त मात्रा में शुद्ध पेयजल स्रोत पाया गया उसी बोर में ग्राम पंचायत द्वारा अपना मोटर डालकर पंचायत में बने पानी टंकी में स्टोर कर पानी सप्लाई किया जा रहा था। 

जिसमें प्रति वर्ष भ्रष्टाचार का जरिया बनने लगा औरकुछ महीनों में मोटर जलने के नाम पर दर्जनों मोटर खरीदी व.रिपेयरिंग के नाम लाखों रुपए विगत वर्षों में आहरण किया गया तब भी जनता एक-एक सप्ताह पानी का इंतजार करते रहते थे जो फिर अनाड़ी ओं से मोटर सुधार कार्य कराया जा रहा था इस बीच मोटर लगभग 50 फीट नीचे गिर कर फस गया जो बिना मैकेनिक के निकाल पाना संभव नहीं है और जल प्रदाय विगत 25 दिनों से बंद होने के कारण 7 फरवरी को मुख्य कार्य पालन अधिकारी जनपद पंचायत अमरपुर को युवक कांग्रेस द्वारा ज्ञापन सौंपा गया था फिर भी निराकरण ना होने पर ग्रामीणों द्वारा सामूहिक रूप से 14 फरवरी 2022 को जल्द से जल्द व्यवस्था ना होने पर प्रभारी सचिव संजय यादव को हटाने व कभी भी धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी गई थी फिर भी प्यासे बूंद-बूंद पानी को तरस रहे ग्रामीण ग्राम वासियों ने.समुचित व्यवस्था ना होने पर 22 फरवरी 2022 को महिला पुरुषों ने गुंडी मटका डिब्बा लेकर सड़क पर बैठ गए जिसमें सुबह 10:00 बजे से 11:00 बजे तक चक्का जाम की स्थिति बन गई। 

सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और चौकी प्रभारी मनोज त्रिपाठी की समझाइश पर ग्रामीण सड़क छोड़ जनपद की ओर सी ईओ से.खफा जनपद घेरने पहुंचे जहां कार्यालय में कोई भी जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी मौजूद नहीं होने पर जनपद के बाजू में ही धरना प्रदर्शन करते सीओ के आने का इंतजार करते रहे लगभग 1:00 बजे सीईओ के कार्यालय आने परआने पर प्रदर्शनकारियों ने प्रभारी सचिव व सरपंच को हटाने के नारे लगाते रहे तब जाकर सीओ ने सरपंच सचिव को बुलाकर शीघ्र पेयजल योजना बहाल करने का निर्देश दिया और प्रदर्शनकारियों को समझाते रहे परंतु नहीं मानने पर आक्रोशित ग्रामीणों ने नारा लगाते हुए सी ई ओ के चेंबर को घेर लिया जहां नायब तहसीलदार जनपद अध्यक्ष वा जनपद सदस्य ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्षमहेंद्र महेंद्र सिंह ठाकुर जनप्रतिनिधि के समक्ष सचिव सरपंच द्वारा 1 सप्ताह के अंदर पेयजल बहाल बहाल करने लिखित आश्वासन के बाद धरना प्रदर्शन समाप्त किया गया  .

अब देखना यह है कि शासन-प्रशासन 1 सप्ताह में क्या पहल करता है तब तक खामोश या वैकल्पिक व्यवस्था से काम चलाएंगे जबकि विगत दिवस केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते को पानी की विकट समस्या को लेकर अमरपुर वासियों ने शिकवा शिकायत की थी जिस को संज्ञान में लेकर मंत्री ने समनापुर में कलेक्टर को जल्द निराकरण करने के निर्देश दिए गए थे फिर भी आज 25 दिन से पानी की समस्या से परेशान चक्का जाम जनपद का घेराव जैसे कदम उठाना पड़ा तब जाकर अभी 1 सप्ताह का और आश्वासन मिला ग्रामीणों ने शासन प्रशासन को जल्द से जल्द व्यवस्था बहाल करने की मांग की गई है

इनका कहना है

शीघ्र ही दूसरा नलकूप खनन कराया जा रहा है मशीनें लग चुकी है शीघ्र ही मोटर डालकर सुचारू व्यवस्था बन जाएगी। 
ए . एस .कुशराम सीईओ जनपद पंचायत अमरपुर

दो टैंकर के माध्यम से जल प्रदाय किया जाना है एक नया नलकूप खनन हो रहा है दूसरी उसकी भी मशीन निकाला जाएगा जो बोर में फंसी  है
संजय यादव प्रभारी सचिव ग्राम पंचायत अमरपुर