करुणा बुद्ध विहार में बौद्ध युवक युवती परिचय सम्मेलन सम्पन्न।

डेस्क न्यूज़। छिंदवाड़ा
आज दिन सोमवार ,बुध्दिस्ट सोसायटी आफ इंडिया के तत्वावधान में करुणा बुद्ध विहार में बौद्ध युवक युवती परिचय सम्मेलन सम्पन्न हुआ, जिसमें 30 युवती और 20 युवकों ने मंच आकार अपना निर्भीक होकर परिचय दिया। कार्यक्रम के प्रारंभ में पूज्य भन्ते जीवक जी ने त्रिशरण पर ने पंचशील ग्रहण कराया। कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि दि बुध्दिस्ट सोसायटी आफ इंडिया के ट्रस्टी एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्रबोधि पाटिल ने कहा कि संस्था द्वारा समाज हित में यह महान कार्य किया जा रहा है, जिसका भरपूर लाभ उठाना चाहिए। आज बच्चों को परिणय सूत्र में बांधने हेतु युवक युवती परिचय सम्मेलन की नितांत आवश्यकता है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव डॉ.मोहनलाल पाटिल ने कहा कि समाज की उन्नति के लिए दि बुध्दिस्ट सोसायटी आॅफ इंडिया सक्रिय भूमिका निभाते आ रही है। हमें इस प्रकार के आयोजन कर समाज को अधिक से अधिक सहयोग करना चाहिए। इस अवसर पर उपस्थित दि बुध्दिस्ट सोसायटी आॅफ इंडिया के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष इंजि.धम्मरतन सोमकुंवर ने कहा कि बुध्दिस्ट सोसायटी प्रदेश के विभिन्न जिलों में भी समाज हित कार्यों में सक्रिय है। इसके अलावा मंच पर अतिथि के रुप में उपस्थित प्रदेश अध्यक्ष मान.बी.टी.गजभिये,समता सैनिक दल के प्रदेश संरक्षक मान. यू.जी.चवरे, प्रदेश महासचिव मान.चिंतामन पगारे ने भी संबोधित किया। साथ ही जांगड़ा महासभा के अध्यक्ष मान. राजेश बांधेवाल ने आभार प्रदर्शित किया गया। परिचय सम्मेलन में भोपाल, इन्दौर, जबलपुर, छिन्दवाड़ा, बालाघाट तथा महाराष्ट्र के चन्द्रपुर आदि स्थानों से लगभग 125 युवक युवतियों का पंजीयन हुआ है। जिसमें 75 युवतियां एवं 50 युवक शामिल हैं।

भोपाल की प्रियंका गजभिये जिसने बीसीए और एमसीए कर वर्तमान में आयटीएमएनसी इन्दौर में बिजनेस एनालिस्ट के पद पर कार्यरत हैं, ने कहा कि मुझे ऐसा लाइफ पार्टनर चाहिए, जो आई टी सेक्टर से जुड़ा हो, चाहे वह इन्दौर, पुणे या बेंगलुरु में भी कार्यरत हो तो भी चलेगा, ताकि हम साथ मिलकर आगे उन्नति कर सके। इसके अलावा नोयाडा में कम्प्यूटर इंजीनियर के पद पर कार्यरत निशा उत्तम मानकर ने मंच पर आकर अपना परिचय देते हुए कहा कि मुझे ऐसा समकक्ष जीवन साथी जो भावनाओं को समझ सके। साथ ही युवकों ने भी मंच पर आकर बेबाक परिचय दिया।

जिसमें डॉ. रविकांत भवतेकर ने कहा कि मुझे ऐसे लड़की की तलाश है, जो पारिवारिक हो और बड़ों का सम्मान करती हो। परिचय सम्मेलन में डाक्टर, इंजिनियर, अधिकारी, लिपिक, वह व्यक्तिगत व्यवसाय करने वाले के साथ साथ अशासकीय सेवा में कार्यरत युवक और युवतियां उपस्थित थी। मंच का संचालन दि बुध्दिस्ट सोसायटी आॅफ इंडिया के जिला महासचिव अशोक पाटिल ने किया।