सरकारी गाइडलाइन को, नजरअंदाज करके ,कोचिंग का व्यापार लगतार जारी हैं

छिंदवाड़ा/कोरोना महामारी जैसी भयंकर महामारी ने जहा एक ओर लाखो अपनो को दूर कर दी ,वही दूसरी ओर जीवन में भय क्या होता है सीखा गई। हर प्रदेश ने अपनी एक गाइडलाइन निर्धारित की जिसके अनुसार प्रत्येक जिले को गाइडलाइन का पालन करना जरूरी है, परंतु छिंदवाड़ा में संचालित कोचिंग संस्थाएं बिना कोई आदेश, बिना कोई गाइडलाइन के लगातार नियमो को तोड़ते हुए ऑफलाइन क्लास लगाने लगे है । छिंदवाड़ा में आए दिन मानसरोवर में कंपीटीशन परीक्षाओं की ऑफलाइन क्लास शुरू कर दी गई ।
जिसमे कोरोना गाइडलाइन एवम् सोशल डिस्टेंसिंग की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है बहुत मुश्किल के बाद जिले में जैसे – तैसे हालत काबू किए गए है, परंतु पुनः शासन प्रशासन की लापरवाही एवम् ढील के कारण जिले की स्थिति पुनः बिगड़ने में देर नहीं लगेगी। आज जिले में जगह जगह नियमो का उल्लघंन किया जा रहा है कोचिंग संस्थाओं में भी बिना मास्क सोशल डिस्टेंसिंग के छात्रों को क्लास में बिठा लिया जा रहा है।आखिर बिना गाइडलाइन के किसके संरक्षण में कोचिंग क्लासेस चलाई जा रही है।वास्तव में शासन प्रशासन को जानकारी नहीं है या बड़े बड़े आलाधिकारी के संरक्षण में ये क्लासेस चलाई जा रही है।